व्यक्तित्व विकास कैसे करें? | How To Do Personality Development?

Personality Development  का मतलब व्यक्तित्व व्यक्ति विकास होता है, जो हमारे अंदर स्थायी रूप में होता है जो हमे दूसरों से अलग बनाता है। व्यक्तित्व का हमारे अंदर बहुत तेजी से विकास होता है और जीवन पर्यन्त सार्थक रूप से प्रतिवर्तित होता रहता है|जैसा कि सभी जानते हैं हमारा व्यक्तित्व ही हमारी छवि को लोगों के बीच प्रदर्शित करता है लेकिन कोई भी जन्म से ही अच्छी पर्सनॉलिटी वाला नहीं होता है।Personality को विकसित किया जाता है और इसके लिए बहुत ध्यान देना होता है और बहुत साडी बातों का ध्यान रखना भी पड़ता है, नहीं तो  जैसा आपके आस-पास का माहौल होगा वैसी आपकी पर्सनॉलिटी अपने आप ही हो जाएगी।                                                 

अक्सर आपन देखा होगा हाई सोसाइटी में रहने वाले लोग निम्न या यूँ कहे मिडिल क्लास सोसाइटी से अधिक आकर्षक होतें हैं क्यूंकि उनके आस-पास का माहौल बहुत अच्छा होता है।यदि हम स्वयं के व्यक्तित्व विकास पर ध्यान दें जोर दे और एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश करें तो फिर व्यक्तित्व विकास पर आस-पास के माहौल से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता या फिर हममे  से कई लोग पर्सनालिटी डेवलपमेंट की कक्षाएं भी अटेंड करते हैं जिससे व्यक्तित्व का और विकास हो सके। अगर आप स्वयं व्यक्तित्व विकास करना चाहते हैं और इसके लिए कोई कदम उठाते हैं तो आपके मन में बहुत सी उलझने आती है और उसी में ही आप उलझे रह जातें हैं।

इसलिए आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताएंगे कि आप कैसे स्वयं अपना व्यक्तित्व विकास कर सकतें हैं और इसके लिए आपको यह पोस्ट शुरू से लेकर अंत तक ध्यान से पढ़ना भी होगा। जैसा कि ऊपर हम बता चुकें हैं कि पर्सनॉलिटी हमारे जीवन का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है तो आइये जानते हैं व्यक्तित्व विकास के लिए क्या क्या तरीके हैं:-

  1. आस-पास के लोगों से मिलकर रहें:- जैसा कि आपको पता ही होगा कि दुनिया में कोई भी पूरा परफेक्ट नहीं है और न ही हो सकता है।इसलिए अगर आप किसी इंसान में कोई कमी है और आप उससे पसंद या मिलजुल कर नहीं रहते तो आप गलत कर रहें हैं और इसे सुधारिये क्यूंकि अगर आप किसी की  आदत या व्यव्हार पसंद नहीं तो ये भी है कि इस तरह आप किसी से मिलकर भी रह नहीं सकते। इसके बजाये आप उसकी कमी को उसे बताये और खुद में भी सीखें की कहीं आपने भी वही कमी तो नहीं, अगर है तो दूर कीजिये और नहीं तो बहुत अच्छी बात है। इसलिए सबके साथ अच्छा व्यवहार करना और धैर्य रखना सबको  पसंद करने से आपकी पर्सनॉलिटी में और सुधार आएगा ।
  2. अच्छे श्रोता बने(Good Listener):- यकीन मानिये यह सबसे जरुरी चीजों में से एक है क्यूँकि इससे आपके Personality में सुधार होना तय है। मान लो आप एक अच्छे श्रोता हैं तो आप वस्तुस्थिति को अच्छे से समझते हैं।इस तरह आप श्रोता हैं तो आपकी समझ से आप दूसरों के साथ बेहतर तालमेल बैठा सकते हैं।इससे आप दूसरे की तुलना में बेहतर और अच्छी कार्यवाही कर सकतें हैं। श्रोता का मतलब है सामने से जो कह रहा उसे ध्यानपूर्वक सुनना।इससे आपके व्यक्तित्व पर अच्छा प्रभाव पड़ता है।
  3. हमेशा सीखते रहें:- हम पूरा जीवन भर सीखते रहना चाहिए। हर इंसान में कुछ कमियां होती है और कुछ अच्छी चीजें।इसमे आपको दूसरे की कमियों को ध्यान रखना अपनी कमियों को दूर करना है और अच्छी चीजों को अपने जीवन में लागू करना है। इससे हमारे अंदर सिखने का गुण तो बढ़ता है  साथ बहुत किसी में बहुत अच्छी आदत होती है जैसे हर काम समय पर करना समय पर उठना हर काम व्यवस्थित तरीके से करना सबसे अच्छे बात करना जैसे चीजों को अपनाना चाहिए।ये हमारे व्यक्तित्व विकास के लिए मददगार साबित होगा। इसलिए यह बात याद रखिये की सबसे कुछ न कुछ सीखना चाहिए।
  4. बहस ना करें(Don’t Argue):- हमारे आस-पास जो भी लोग रहते हैं उन सबका व्यव्हार आदर प्रकृति या मिजाज अलग-अलग होता है। जैसे किसी की कोई कमी हो या उसकी कोई बात हमे पसंद नहीं है और हमे बुरी लगती है तो भी हम उसे ये नहीं कह पाते कि भैया ये आदत आपकी गलत है। लेकिन कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हे किसी की कोई बात नहीं पसंद आती तो बिना सोचे समझे की वह क्या सोचेगा सीधे बोलने की आदत होती है।इसलिये कोई अगर इस तरह से सीधे सामने में हमसे बोल दे तो उसका बुरा ना मने बल्कि उसे धन्यवाद् करें कि उसने आपकी उस कमी के बारे में बताया और इस तरह आप उस कमी या गलत आदत को सुधार सकते हैं इससे आपका ही व्यक्तित्व निखरेगा।
  5. जगह के हिसाब से पहनावा रखें:- आपको किसी संवाद का एक लाइन तो याद ही होगा “जैसा देश वैसा भेष” मतलब जैसा देश है उसी प्रकार अपना पहनावा रखना। ये बात ध्यान योग्य है कि First Impression is Last Impression, पहनावा हमारे व्यक्तित्व विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। अगर आप ऑफिस जा रहें हैं और जीन्स टीशर्ट पहन कर जाएंगे तो ये आपके पर्सनालिटी के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं है। इसलिए कहीं भी जाते वक्त पहनावा उस जगह के हिसाब से ही रखें जिससे आपकी पर्सनालिटी भी उभरेगी और इससे आपका सब पर अच्छा इम्पैक्ट भी पड़ेगा।
  6. संचार कौशल सुधारें(Improve Communication Skill):- यह आपके लिए अतिआवश्यक है कि आपका Communicationa Skill कितना अच्छा है। आपका संचार कौशल अच्छा तो ऑफिस, घर किसी मीटिंग या फंक्शन में आपका पर्सनालिटी Level दिखता है जो दूसरों को भी प्रभावित करता है और आपके व्यक्तित्व का विकास होता है। इससे लोग आपकी बात अच्छे सुनते हैं और आपको समझते भी हैं। कहते हैं ना – इंसान का मुँह खुलता हैं तभी पता चलता है कि वो कैसा है?
  7. धीरे और शालीनता से बात करें:- अक्सर देखने में आता है कि लोग किसी जगह पर चर्चा कर रहें हैं और आप पास में किसी दूसरे से बात कर रहें हैं तो समूह में बैठे लोग या आप जोर-जोर से बात करते हैं , तो यह आपकी पर्सनालिटी के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं है। आपको अपने Personality Development पर ध्यान देते हुए ये भी ध्यान रखना होगा कि कौन सी जगह कितनी धीरे या जोर से बात करनी है। इससे आपके पर्सनालिटी पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा।
  8. स्वयं खुश रहें और दूसरों से भी हंस कर बात करें:- आज कल हमारे जीवन में काम की अधिकता और तनाव के कारण हमारे जीवन से Happiness नाम की चीजें नाम मात्र ही रह गयीं हैं , इसलिए जब भी आपको समय मिले खूब हँसे और औरों को भी हंसाये इससे लाइफ में ख़ुशी मिलती है और काम तनाव काम होता है और आप ताज़ा महसूस करते हैं। सबसे बड़ी बात इससे आपके आस-पास का माहौल भी खुशनुमा हो जाता है।
  9. व्यव्हार में विनम्रता लाएं:- आपने हाई सोसाइटी के लोगों को देखा होगा उनमे विनम्रता का भाव रहता है जो उनके पर्सनालिटी को बढ़ाता है। और हर कोई उनसे बात करने की सोचता है इसी तरह अगर आप अपने व्यवहार में विनम्रता लाएंगे और विनम्र रहेंगे तो इससे आपकी भी Personality बढ़ेगी और आपके प्रति दूसरो के मन में सम्मान की भावना आएगी।विनम्रा होने से आपसे हर कोई प्रभावित होगा और लोग आपको पसंद करेंगे इससे आपके मन में भी लोगो के प्रति सकारात्मक भाव पैदा होगी और जीवन में सादगी आएगी।
  10. शारीरिक हाव – भाव(Body Language):- किसी से आप यदि बात कर रहे हों तो आपकी बॉडी लैंग्वेज सही होना चाहिए इसके बिना आप जो काम कर रहे अपने पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लिए सब बेकार हो जायेगा। आप किसी बात करते हैं तो तरीका तो सही है लेकिन Body Language ठीक नहीं तो सामने वाला आपकी बात से Impress कभी नहीं होगा इसलिए इस फैक्ट पर ध्यान दीजिये और बॉडी लैंग्वेज सुधारिये। इसके लिए आप खुद मिरर के सामने खड़े होकर Practice भी कर सकते हैं।
  11. पुस्तकें पढ़ने की आदत डालें:- किताबें हमारी सबसे अच्छी मित्र हैं इसे पढ़ने से हमारे ज्ञान तो वृद्धि तो होती ही है साथ ही व्यवहार में विनम्रता भी आती है।इसके लिए आप ऑटोबायोग्राफी आर्टिकल या Novel पढ़ें इससे आपके अंदर सकारात्मक भावना में विद्धि होगी और अलग-अलग विषयों की जानकारी भी होगी इसलिए जितना आप पढ़ेंगे उतना ही आपके अंदर सकारात्मक भाव पैदा होगी और आपके लिए उतना ही अच्छा है।
  12. नए-नए लोगों से मिले:- हमेशा हमे नए-नए लोगों मिलते रहना चाहिए और इसलिए लिए हमेशा तैयार भी रहना चाहिए।नाये लोगों से मिलने से हमे नयी जानकारी तो मिलती ही है साथ ही साथ उनके पर्सनालिटी बॉडी लैंग्वेज , बात करने के तरीका नेचर से भी बहुत कुछ सिखने के लिए मिलता है। कई बार वो हमे हमारी कमी के बारे में भी बताते हैं जिसे दूर कर हमारा ही पर्सनालिटी डेवलपमेंट होता है और सकारात्मक प्रभाव भी पड़ता है।
  13. सहयोग की भावना रखें:- सहयोग की भावना रखना हमारे लिए उतना ही फायदेमंद जितना नए लोगों से मिलना। हम अगर सपोर्ट नहीं करते तो कभी जरूरत पड़ने पर कोई हमारी भी नहीं करेगा। सपोर्ट करने से आस-पास के लोगों पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है आपका। उनके मन में हमारे प्रति सकारात्मक भाव आती है जिससे समाज के साथ-साथ ऑफिस या दूसरे जगह हमारा सम्मान बढ़ता है और यही हमारी पर्सनालिटी डेवलपमेंट में हमारा सपोर्ट होता है।
  14. दूसरों को आदर-सम्मान दें:- हमें हर समय विनम्र बने रहने की सोचना चाहिए क्यूंकि जब हम विनम्र बनेंगे तो इससे हम दूसरों को रेस्पेक्ट दे पाएंगे और दुसरो को रेस्पेक्ट देने से लोगों का हमारे प्रति झुकाव और सकारात्मक भाव बढ़ेगा।दुसरों को रेस्पेक्ट देने से वो हमारी भी रेस्पेक्ट करेंगे अगर नहीं देंगे तो साथ में रहने वाले भी हमसे दूरी बनाने लगेंगे क्यूँकि जो दूसरों की रेस्पेक्ट नहीं करता तो हमारी क्या करेगा की भावना उनके मन में आने लगती है इसलिए अगर आप ऐसा कुछ करते हैं तो इसे सबसे पहले सुधारें।
  15. गलती को क्षमा करें:- हम सभी यह बात जानते हैं कि हममें से कोई भी परफेक्ट नहीं हैं इसलिए गलती की गुंजाईश रहती ही है और यह आपसे भी हो सकती है। अगर आप चाहते हैं कि कोई दूसरा भी आपकी गलती को माफ़ करे तो यही चीज आप में भी होनी चाहिए कि आप दुरसों की गलती माफ़ करें। इससे हमारी पर्सनालिटी पर Positive प्रभाव पड़ता है जिससे दूसरे आपसे आकर्षित होतें हैं।
  16. माफ़ी मांगना सीखे:- जब कभी किसी गलती या काम के लिए किसी से माफ़ी मांगते हैं तो हम सिर्फ माफ़ी ही नहीं मांग रहे हो बल्कि साथ में आप विनम्र भी बनते हैं। इससे आपमें ईगो नहीं दूर होता है और सबसे मिलकर रहना और चलना सीखते हैं।आपकी पर्सनालिटी इससे और अधिक निखरती है। दूसरों के मन में इससे आपके प्रति उदारता भाव भी आता है।

दोस्तों, यह पर्सनालिटी डेवलपमेंट के लिए दिए गए टिप्स कैसा लगा?मुझे तो यह बहुत अच्छा लगा और यह मेरा व्यक्तिगत अनुभव भी रहा है।अगर यह पोस्ट आपको भी अच्छी लगी तो शेयर जरूर करें इससे यह ज्यादा ज्यादा लोगों तक पहुंचे और वे भी अपना Personality Developement कर सके। यदि कोई सुझाव हो अवश्य नीचे कमेंट करके करें…धन्यवाद्

Please follow and like us:

Nice1-Story

I'm Yogendra Kumar. I have started writing since July, 2020. I like blogging, sharing and writing about the positivity of the world. You can find here Best Motivational Quotes, Success Story, Inspirational Quotes, Biography, Life Inspiring Quotes, Ethics Story, Life Changing Quotes, Motivational Story,Positive Thinking Quotes, Inspirational Story, Success Mantra, Self Development Quotes, Dharma, Home Cure Tips.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This Post Has 2 Comments

  1. Ramya

    nice tips thank you

    1. Nice1-Story

      Thanku Ramya if You Have Any suggestion then send me on my mail id…